Click Here Corona Virus JUNE All Updates | कोरोना वायरस से जुड़ी आज की सारी खबरें



 

एक डॉक्टर का प्रधानमंत्री के नाम खुला ख़त-






हेलो मिस्टर प्रधानमंत्री,



राष्ट्रीय राजधानी में केंद्र सरकार द्वारा चलाए जा रहे एक अस्पताल के पीडीऐट्रिक आईसीयू में काम करने वाला डॉक्टर होने के नाते, मैं आपका ध्यान ज़मीनी हालात की ओर दिलाना चाहता हूं. एन95 तो भूल जाइए, हमारे पास सामान्य मास्क तक पर्याप्त मात्रा में नहीं हैं. हमें अपने गाउन 2-3 दिन तक दोबारा इस्तेमाल करने पड़ रहे हैं, जो बिना गाउन के काम करने के ही बराबर है. सभी पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट की सप्लाई बहुत कम है. अगर देश की राजधानी के बीचों-बीच स्थित एक अस्पताल की हालत ये है तो हम देश के दूसरे हिस्सों के लिए क्या ही उम्मीद ही जा सकती है.



बात ये है कि अगर आप इस महामारी से निपटने में हेल्थ सिस्टम की मदद करना चाहते हैं तो 'बाल्कनी में खड़े होकर ताली बजाने' की जगह आपको उन्हें उपकरण देने चाहिए. मुझे 99% भरोसा है कि ये खुला ख़त आपतक नहीं पहुंचेगा, लेकिन फिर भी इस उम्मीद में ये ख़त लिख रहा हूं कि दूसरे डॉक्टर और आम नागरिक खड़े होकर ताली बजाने की जगह एक प्रभावी समाधान के लिए एकजुट होंगे. अगर आप स्वास्थ्य कर्मियों को वो चीज़ें नहीं दे सकते, जो उन्हें अपनी और देश की सुरक्षा के लिए चाहिए तो तालियां बजाकर उनका मज़ाक ना उड़ाएं.

आपके दुर्भाग्यशाली देश का एक असहाय डॉक्टर



(तालियां और थालियां बजाने के बाद लेडी हार्डिंग अस्पताल, दिल्ली के डॉक्टर देबब्रत महापात्रा  ने यह अपने फेसबुक पेज पर लिखा. जिन आवाजों को सबसे पहले सुना जाना चाहिए, आजकल उन्हें सुने जाने का चलन है। इसीलिए जब लाखों लोग सड़क पर हैं, प्रशासन उन्हें संभालने में परेशान है, तब प्रधानमंत्री योग का वीडियो शेयर करके फिटनेस फंडा समझा रहे हैं और मंत्री जी लोग रामायण देख रहे हैं।)
|Photo Credit- Twitter@narendramodi


Real facebook Post Of 
Debabrata Mohapatra



Hello Mr Prime-minister,

As a doctor working in national capital, working in a central government run hospital pediatric ICU, I would like to draw your kind attention to the ground situation. Forget about N95, we don't have normal masks in adequate supply. We have to re-use our gowns for 2-3 days, which is equivalent to use no gown at all. All personal protective equipments are minimal in supply. If such is the condition of a hospital in Connaught place, the center of the national capital, then what can we hope for the rest of the country.
Point is, if you want to help the health system to tackle this pandemic effectively, you need to give them equipments, rather than CLAP WHILE STANDING IN YOUR BALCONY. I am 99% sure that this open letter won't reach you, but still writing this in the hope that other doctors and for that matter, common citizens would unite for an EFFECTIVE solution, rather than stand and clap. Don't make a mockery of the health workers by clapping, if you can't provide things which they need to protect themselves and the nation.
A helpless doctor of your unfortunate country..

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post