Click Here Corona Virus JUNE All Updates | कोरोना वायरस से जुड़ी आज की सारी खबरें



मंगलवार 31 मार्च को सुबह 7 बजे से रात्रि 8 बजे तक इंटर डिस्ट्रिक्ट (राज्य के भीतर) परिवहन सुविधा खुली रहेगी। 

कोरोना वायरस का कहर अभी भी पूरे देश में जारी है। देश ही नहीं सारी दुनिया को इस महामारी ने अपनी चपेट में ले रखा है । अमेरिका चायना जैसे बड़े देश भी इससे परेशान हैं और अपने-अपने देशों में लॉक डाउन कर रखा है ।




भारत में भी 21 दिन का लॉक डाउन जारी है हर राज्य में लॉक डाउन जारी है वहीं उत्तराखंड में Lockdown 1दिन के लिए बंद किया जा रहा है ।

मंगलवार 31 मार्च को सुबह 7:00 बजे से रात 8:00 बजे तक लॉक डाउन को रोका जाएगा । यह सिर्फ राज्य के भीतर ही रोका जाएगा अन्य राज्यों के लिए नहीं। 

उत्तराखंड में  अलग-अलग जिलों में  जो लोग फंसे हुए हैं  वह अपने जिले वापस आ सकते हैं । या जो छात्र अपने कॉलेज या यूनिवर्सिटी में है और अपने घर आना चाहते हैं तो वह 31 मार्च को अपने घर आ सकते हैं। परिवहन व्यवस्था को राज्य के अंदर ही खोल दिया जाएगा और दूसरे राज्यों से उत्तराखंड में आने के रास्तों को नहीं खोला जाएगा ।


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत


नीचे हम आपको बता रहे हैं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री माननीय श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी ने क्या कहा नीचे हमने उनकी बात को कोट किया है । जो बात उन्होंने फेसबुक पर कहीं 

फेसबुक पर लाइव इंटरव्यू के दौरान माननीय मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी ने कहा-

राज्य में कई ऐसे लोग अभी फंसे हुए हैं जिन्हें मेडिकल या अन्य आवश्यक कारण से अपने घरों तक जाना है, उनकी सहूलियत के लिए मंगलवार 31 मार्च को सुबह 7 बजे से रात्रि 8 बजे तक इंटर डिस्ट्रिक्ट (राज्य के भीतर) परिवहन सुविधा खुली रहेगी। लोग उक्त समय पर रोडवेज/GMOU/KMOU/TGMO/ मैक्स कैब, निजी 4 व्हीलर, 2 व्हीलर का इस्तेमाल राज्य की सीमा के भीतर कर सकते हैं।



इसके अलावा मुख्यमंत्री ने यह भी कहा की उत्तराखंड में सुबह 7:00 से 10:00 का आवश्यक सामग्री के लिए दुकानों को खोला जाना कामयाब रहा इसी को देखते हुए समय सीमा को सुबह 7:00 से 1:00 बजे किया जाता है और 29 मार्च को भी यह लागू रहेगा।

इससे लोगों में घबराहट की स्थिति कम हुई है लोगों को इससे काफी फायदा हुआ है लेकिन यह भी कहा कि लोगों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे।

मार्केट में भीड़ जमा ना हो और जरूरी ना हो तो घर से बाहर ना निकले घर पर अनावश्यक सामान का ढेर लगाने से अच्छा है कि सिर्फ जरूरी सामान ही लें भारत में खाद्य सामग्री की कोई कमी नहीं है। उत्तराखंड राज्य में खाद्य सामग्री की कोई कमी नहीं है। भरपूर खाद्य सामग्री भी है भरपूर जरूरत का सामान भी है और चिकित्सा व्यवस्था भी भरपूर है तो किसी भी चीज से डरने या घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है ।

केवल आपको अपने घरों पर रहना है और अगर जरूरत का सामान नहीं है तो आप मार्केट से जाकर सुबह 7:00 से 1:00 बजे तक ला सकते हैं नहीं तो आप होम डिलीवरी सर्विस का यूज भी कर सकते हैं जो सरकार ने सभी के लिए शुरू कर रखी है होम डिलीवरी के लिए नंबर भी जारी किए गए हैं। 

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post